दोस्त की पड़ोसन को पटा कर चोदा और उसकी माँ को भी भाग -1


हाय दोस्तों मेरा नाम प्रशांत है और मैं रायपुर छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूँ | मैं स्टूडेंट हूँ और मैं 12 कक्षा का छात्र हूँ | ऐसे ही घर में रह कर पार्ट टाइम जॉब भी करता हूँ | मेरा कद 5 फुट 10 इंच है और मैं जिम जाता हूँ तो मेरा बदन भी फिट है और मेरी मस्कुलर बॉडी है जो की मुझे बेहद पसंद है | मुझे शुरू से ही लड़कियां पटाने का बहुत शौक है पर किस्मत की बात देखो एक लड़की नहीं पटी थी तब तक | अब मैं आप लोगों को अपनी एक घटना बताने जा रहा हूँ जो की मेरे साथ हुई थी जब मैं कक्षा 10 का एग्जाम देचुका था और गर्मी का टाइम था और छुट्टियाँ चल रही थी | मेरी ये कहानी दो भाग में है तो मैं आप को अगले भाग में बताऊंगा की कैसे मैंने उसे चोदा |

मेरा एक दोस्त है अंकुष जो की मेरे ही एरिया में रहता है पर थोडा दूर है मेरे घर से और वो मेरा बचपन का दोस्त है और हम एक साथ ही एक ही स्कूल में है तो वो मेरा पक्का दोस्त है | लेकिन वो बहुत सीधा साधा है और मैं उतना ही कमीना हूँ | मैं उसके घर रोज जाया करता था उस टाइम उसी के पास वीडियो गेम था तो हमलोग बहुत खेला करते थे | उसके घर के सामने एक परिवार रहता था जिसमे एक आंटी उनके पति उनका एक छोटा बेटा और एक माल लड़की रहती थी जो कॉलेज में थी | जब मैंने उसे पहली बार देखा तब ही मुझे उससे प्यार हो गया था मैं उसे बहुत प्यार करने लगा था और उससे शादी करना चाहता था | भले ही मुझसे उम्र में बड़ी थी पर मैं उसे बहुत पसंद करने लगा था ये बात मैंने किसी को भी नहीं बताई थी | मैं अपने दोस्त की बदनामी करवाना नहीं चाहता था इसलिए मैंने उसके मोहल्ले में एसा कुछ भी नहीं किया था जिससे उसको बदनामी सहनी पड़ती | मेरे पास पहले से ही एक पापा की स्कूटी थी तो मैं उसके कॉलेज तक पीछा किया लेकिन उसे ये नहीं पता चलता था की मैं उसका पीछा कर रहा हूँ | एक दिन मैं उसके सामने आ ही गया उसके कॉलेज के सामने वो मुझे नहीं पहचानती थी क्यूंकि वो ज्यादा घर से बाहर नही निकलती थी | वो पढने लिखने वाली लड़की थी |

पर मुझे ये लगता था की आखिर उसकी भी तो कोई इच्छा होगी, उसकी भी तो ख्वाहिश होगी, मैंने उससे कहा की मुझे तुमसे बात करनी है|

उसने कहा की मैं तुम्हे नहीं जानती मैं क्यूँ बात करू तुमसे ?

मैंने कहा हाँ तुम मुझे नहीं जानती पर मैं तुमसे बात करना चाहता हूँ प्लीज मेरी बात सुन लो आज के बाद मैं फिर तुम्हारा रास्ता ऐसे कभी नहीं रोकूंगा |

तो फिर उसने कहा की ठीक है कहो क्या कहना है|

मैंने कहा कि मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और तुमसे शादी करना चाहत हूँ भले ही तुम मुझे 2 साल बड़ी हो पर मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ | अगर तुम हाँ कर दो मैं तुम्हारे लायक बनूँगा और तुम्हे पा कर रहूँगा |

उसने मुझसे कहा की या तो तुम यहाँ से चले जाओ या फिर मैं तुम्हारी कंप्लेंट पुलिस में कर दूँ |

मैंने कहा ठीक है मैं चला जाता हूँ और कभी तुम्हे परेशान भी नहीं करूँगा | पर मेरी इस बात पर थोडा सोचना |

फिर ऐसे ही कुछ दिन उसके याद में बीतने लगे मैं अपने दोस्त के यहाँ रोज ही जाता था| उसने मुझे एक दिन देख लिया कि मैं किसका दोस्त हूँ | हालंकि उसने किसी से कहा तो नहीं मेरे बारे में पर अब वो मुझे रोज गुस्से से ही देखने लगी थी | मुझे ऐसा लगता की शायद वो मुझसे नफरत करती है | और वो सच में नफरत ही करती थी ये मुझे बाद में पता चला था | मैंने भी ठान लिया था कि उसे पटा कर ही रहूँगा किसी भी कीमत में | अब मेरे स्कूल चालू हो गये थे और मैंने स्कूल जाना चालू कर दिया था और वो भी कोचिंग क्लास पढ़ाती थी | तो मैंने उससे न कह कर उसकी मम्मी से कहा कि आंटी मुझे ट्यूशन पढ़ना है तो उनने कहा ठीक है तुम कल से आ जाना | फिर मैंने क्लास जाना चालू कर दिया और वो मुझे मना नहीं कर पाई क्यूंकि मैंने उसकी मम्मी से बात की थी | वो मुझे मजबूरी में पढाया करती थी | मेरे साथ और भी बच्चे आते थे तो मैं बस उसे देखता ही रहता था बोल भले ही कुछ नहीं पाता था | एक दिन की बात है बारिश का मौसम चालू हो गया था और उस दिन कोई भी बच्चे नहीं आए थे और उसने डीप गले का सूट पहना था और वो बहुत प्यारी लग रही थी मैं भी उस दिन कम स्मार्ट नहीं लग रहा था क्यूंकि जब मैं वहाँ गया उसके घर पर, तब उसने मुझसे खुद कहा | मैं बहुत खुश हो गया ये सुन के की तुम बहुत सुन्दर लग रहे हो | फिर उसके बाद वो वैसे ही बैठी रही और मैं नीचे बैठे गया मेरी नज़र उसके लेगी पर पड़ी तो मैं देखा की जो की थोड़ी सी फटी हुई थी जिसमे उसकी पेन्टी साफ दिख रही थी मैंने बार बार देखे जा रहा था तो उसने मुझसे कहा की तुमसे एक बात पूछनी है | मैंने कहा की हाँ पूछो तब उसने पूछा की क्या तुम मुझसे सच में प्यार करते हो तो मैंने कहा की आप आजमा लेना कभी भी | मैं आपको साबित कर सकता हूँ की मैं आपको कितना प्यार करता हूँ |

उसका ध्यान अपनी लेगी पर नहीं गया था | जब उसने मुझे अपनी लेगी की तरफ देखते हुए देखा तो उसने कहा की तुम क्या देख रहे हो और तुम्हारा ध्यान कहाँ है | मैंने नज़रे फेर ली और कहा कि नहीं नहीं कुछ भी तो नहीं देख रहा फिर मैं नज़रे झुका के पढने लगा तब उसका ध्यान अपनी लेगी पर गया और वो शर्मा गई और मुझसे कहा की मैं आती हूँ 5 मिनट में | मैंने कहा ओके फिर वो चली गयी अपनी लेगी बदलने |

अब मेरा ध्यान कहाँ लगने वाला था पढाई में | मैं भी उसके पीछे निकल गया और उसने एक गलती कर दी कि उसने रूम का दरवाज़ा बंद करना भूल गई थी और मुझे इस बात का फायदा मिलना था | मैं चुपके से उसे देख रहा था उसको लेगी बदलते हुए पर वो मुझे नहीं देख पा रही थी | जब उसने अपनी लेगी उतारी तो मेरा लंड खड़ा हो गया उसकी गोर गोरी टाँगे देख के | क्या भरी भरी जांघे थी उसकी मन तो कर रहा था की उसकी जांघे ही चाट लूं इतनी मस्त लग रही थी वो | जब उसने लेगी बदल ली तो मैं अपनी जगह पर आ कर बैठा गया बारिश रुक चुकी थी और मेरा भी वक़्त हो गया था जाने का | जैसे ही मैं बाहर निकला तो बारिश फिर बहुत ज़ोरों से चालू हो गयी थी | तो मैंने कुछ देर वहीँ रुकना सही समझा और फिर मैं रूम की ओर जाने लगा तो मैंने देखा कि वो अपनी चूत रगड़ रही है | ये मैं चुपके से देख रहा था और मेरा फिर लंड खड़ा हो गया था | मैं देख ही रहा था की मेरे फोन की घंटी बज गयी और वो झटके से उठ गयी और उसने कहा मुझसे गुस्से में की तुम गए नहीं | मैंने कहा की बारिश फिर से होने लगी तो मैंने सोचा की मैं यही रुक के और थोडा पढ़ लूँ | उसने कहा ठीक है फिर वो खुद भी पढने लगी और मैंने उससे पुछा कि तुम क्या कर रही थी तो वो झटका खा गयी और उसने कहा की तुम्हे क्या मतलब | तब मैंने कहा की जो तुम कर रही थी मैंने देख लिया था तो डर गई और बोली प्लीज किसी को ये बात मत बताना और प्लीज मुझे माफ़ कर दो |

थोड़ी देर सोचने के बाद मैंने कहा की मुझेतुमसे प्यार तो है पर मैं तुमसे कुछ और भी चाहता हूँ तो उसने पुछा क्या ? मैंने कहा की मैंने तुम्हे लेगी बदले हुए भी देखा था पर उस टाइम मैं वीडियो रिकॉर्डिंग कर नही पाया था पर अब जो तुम कर रही थी उसकी रिकॉर्डिंग मैंने कर ली है | अगर तुमने मेरा कहा नहीं माना तो मैं ये सब को दिखा दूंगा वो डर गयी और ऐसा न करने के लिए मुझसे विनती करने लगी तो मैंने बिना डरे उससे कह दिया मुझे तुम्हारी चूत चाहिए तो वो गुस्से से बोली की नहीं | मैं ये नहीं कर सकती तो मैंने भी कहा की ठीक है तो मैं ये वीडियो सबको दिखा देता हूँ | तब उसने कहा की नहीं नहीं मत दिखाना मैं रेडी हूँ करने के लिए जैसा तुम बोलो |

दोस्तों मैं आप लोगों को आगे के भाग में बताऊंगा की कैसे मैंने उसे चोदा और कैसे मैंने उससे अपने सारे काम करवाए | ये मेरी एकदम सच्ची घटना है जो भी मैं आप लोगों को बता रहा हूँ और जो आगे भी बताने वाला हूँ |


error:

Online porn video at mobile phone


chut sex story in hindihindi secysexy story behansex story in hindi bhabhinangi chut comgigolo storiesxxx storychudai sex story hindisexy chut ki kahani hindisexy bhabhi comantarvaasnadevar bhabhi sex photoantrwasna hindi storihindi sex story in trainwww marathi aai,choda chodi kahanikamvasna ki kahanihindi sex mobikamwali bai ki chudaimast chudai storysagi sister ki chudaibur chudai kahani hindibhabi sex story hindibangali bhabi sexbhai behan ki chudai ki kahani hindi mecousin ki chudai ki kahanibhabhi ki chudai ki kahaanihindi chachi ko chodachudai ki kahani bahanbhai behan chudai kahanibangla sex kahanidevar bhabhi ke sath sexrandi ki chut ki kahaninaukar se chudaiprincipal ne teacher ko chodahot kahaniyanangi biwibur chudai ka majamausi ki sex storybur chut landchori se sexbhabhi sex ki kahanifree hindi kahanibap beti ki chudai hindi storynew hindi sexy kahaninew chudai story in hindihindi sex story bhabhi ki gand marisex hindi auntysaxy kahnibhai behan mmssexy kahanimaa se chudaibhai behan ki gandi kahanimadak kahaniyachut dikhaimushal mani bahano ki rashili chut chudaiXxxchachi chudai stories hindijawani ki hawashindi story comactress sex storiesdesi desi xxxआ उई आ चोदाई कहानिhindi bhabhi ki chudai storywww lesbian sexhindi sexe kahaniwww free hindi sex storystory sexiholi me chodaJeja sali aaaahhhhaaa margaisex stories hindi auntyfree desi chudaihot sexy khaniyachudai ki bhukhchudaiyanindian sex khanibiwi ko kaise chodeholi ki chudai story