खड़ा करके चोदने का मजा


Antarvasna, kamukta: मेरी जॉब दिल्ली में लग चुकी थी मेरे माता-पिता दोनों ही सरकारी विभाग में नौकरी करते हैं और उन दोनों के पास कम समय होता है। बचपन से ही मैं ज्यादातर अकेला रहा हूं या फिर मेरी मौसी ने हीं मेरी देखभाल की है मैं ज्यादातर अपनी मौसी के साथ ही रहा करता था परंतु अब मैं दिल्ली में आ चुका हूं और दिल्ली में आने के बाद मेरे माता-पिता चाहते हैं कि मैं कुछ दिनों के लिए उनके पास जाऊं लेकिन मुझे ऑफिस से छुट्टी नहीं मिल पा रही थी इसलिए मैं घर नहीं जा पाया था। मेरा घर रोहतक में है लेकिन अभी तक मैं घर नहीं जा पाया था और मुझे लग रहा था कि शायद मैं अगले महीने तक ही घर जा पाऊंगा। अगले महीने मुझे छुट्टी मिल गई और मैं अपने घर चला गया मैं जब अपने घर गया तो मेरे पापा मम्मी उस दिन भी ऑफिस गए हुए थे मैंने पड़ोस की आंटी से चाबी ली और अपने घर का दरवाजा खोला। मैं अंदर बैठा हुआ था मैं सुबह ही घर पहुंच गया था और जब शाम के वक्त पापा और मम्मी दोनों ऑफिस से लौटे तो उन्होंने मुझे कहा कि रोहित बेटा तुम दिल्ली से कब आए मैंने उन्हें बताया कि मैं तो सुबह ही आ गया था लेकिन आप लोग घर पर नहीं थे।

पापा और मम्मी मुझसे बात कर रहे थे तो वह कहने लगे कि बेटा तुम्हारी जॉब कैसी चल रही है मैंने उन्हें बताया मेरी जॉब तो अच्छी चल रही है। मैं काफी समय बाद घर लौटा था पापा और मम्मी ने भी अपने ऑफिस से छुट्टी ले ली थी और वह लोग चाहते थे कि हम लोग फैमिली टूर पर कहीं घूमने के लिए जाएं। मैंने उन्हें कहा क्या मौसी भी हमारे साथ चल रही हैं तो वह कहने लगे कि हां तुम्हारी मौसी भी हमारे साथ चल रही हैं लेकिन हम लोगों ने अभी तक यह फैसला नहीं किया था कि हम लोग घूमने के लिए कहां जाएंगे। मैंने पापा से कहा कि पापा हम लोग घूमने के लिए कहां जा रहे हैं तो वह कहने लगे कि बेटा अभी तक तो मैंने इस बारे में कुछ सोचा नहीं है, आखिरकार हम सब लोगों की सहमति से हम लोगों ने गोवा जाने का प्लान बना लिया। अपने परिवार के साथ गोवा जाना मेरे लिए बहुत ही अच्छा रहा और मैं बहुत खुश था मैंने ही फ्लाइट की टिकट बुक करवा दी थी हम लोग दिल्ली से होते हुए गोवा जा रहे थे।

दिल्ली में हम लोग एक दिन रुकने वाले थे और हम लोग होटल में रुके थे क्योंकि मैं जिस घर में रहता हूं उसमें मेरे ऑफिस के दो लड़के भी मेरे साथ रहते हैं इसलिए पापा ने कहा कि हम लोग होटल में ही रुक जाएंगे और हम लोग होटल में रुके हुए थे। अगले दिन सुबह हमारी फ्लाइट थी और हम लोग जब सुबह एयरपोर्ट पर पहुंचे तो वहां से हम लोगों ने गोवा की फ्लाइट ली हम लोग फ्लाइट में बैठ चुके थे और थोड़ी देर बाद फ्लाइट उड़ान भरने वाली थी। हम लोग जब गोवा पहुंचे तो गोवा एयरपोर्ट से बाहर निकलते ही हम लोगों ने वहां से टैक्सी ले ली और उस टैक्सी ड्राइवर ने हमें होटल तक छोड़ दिया हम लोग होटल में पहुंचे। जब हम लोग होटल में पहुंचे तो हमने सोचा कि थोड़ी देर हम लोग आराम कर लेते हैं मैं एक अलग रूम में लेटा हुआ था मैं इस बात से बहुत खुश था कि मेरा परिवार मेरे साथ घूमने के लिए गोवा आया है मुझे इस बात की बहुत खुशी थी। मैं और पापा होटल के रिसेप्शन में बैठे हुए थे तभी मम्मी और मौसी भी तैयार होकर आ गई और जब वह लोग तैयार होकर आए तो हम लोग वहां से घूमने के लिए निकल पड़े। हम लोग पैदल ही काफी आगे तक निकल आए थे और जिस होटल में हम लोग रुके थे उससे थोड़ी आगे पर ही एक बीच था हम लोग उसी बीच पर बैठे हुए थे। मौसी और मम्मी बात कर रहे थे और पापा और मैं बैठे हुए थे मैं समुद्र की तरफ देख रहा था कि तभी आगे से एक लड़की आती हुई मुझे दिखाई दी। उसके बाल बहुत ही लंबे थे और उसके चेहरे का रंग इतना आकर्षित करने वाला था कि वह मुझे अपनी ओर खींच रहा था मैं उस लड़की की तरफ देखता ही रहा उसके साथ उसका परिवार भी था। मौसी कहने लगी कि चलो हम लोग आगे चलते हैं हम लोग वहां से थोड़ा आगे चले गए थे और उसके बाद हम लोगों को समय का पता ही नहीं चला। दोपहर के वक्त हम लोग वहां से होटल की तरफ लौट आये और हम लोगों ने होटल में लंच ऑर्डर करवा दिया हम लोगों ने लंच करने के बाद थोड़ी देर आराम किया और उसके बाद शाम के वक्त हम लोग घूमने के लिए निकल गए।

जब हम लोग घूमने के लिए निकले तो उस वक्त मैं एक दुकान में गया वहां पर मैंने देखा कि वहां पर टीशर्ट बहुत ही अच्छी थी मैंने अपने लिए एक टी-शर्ट खरीदी। मैं जब वह टीशर्ट खरीद रहा था तो उसी वक्त मुझे वह लड़की उसी दुकान पर आती हुई दिखाई दी वह मेरे सामने खड़ी थी और मैं उसे देख कर खुश हो गया। मैंने हल्की सी मुस्कान उसे दी और उसके बाद मैं वहां से चला गया यह भी तो इत्तेफाक ही था कि उससे मेरी मुलाकात उसके बाद भी होती रही और गोवा में वह मुझे चार-पांच बार मिली शायद उसकी नजरें भी मुझ पर थी। हम लोग वापस रोहतक लौट चुके थे मैं रोहतक लौट चुका था और कुछ ही दिनों बाद मुझे दिल्ली जाना था पापा और मम्मी के साथ गोवा का टूर बड़ा ही अच्छा रहा और अब मैं दिल्ली लौट आया था। मैं जब दिल्ली लौटा तो मेरे दोस्तों ने मुझसे पूछा कि तुम अपने परिवार के साथ गोवा गए थे तो मैंने उन्हें बताया हां मैं अपने परिवार के साथ गोवा गया हुआ था। मैंने अपने दोस्तों को गोवा की तस्वीर दिखाई और अगले दिन मैं अपने ऑफिस जाने लगा हर रोज की दिनचर्या वही थी सुबह का वक्त मैं ऑफिस जाता और शाम को मैं घर लौट आता।

एक दिन मेरे दोस्त ने मुझे कहा कि यार आज कहीं चलते हैं मैंने उसे कहा लेकिन आज हम लोग कहां जाएंगे फिर मैंने उससे कहा कि आज हम लोग किसी पब में चलते हैं। हम लोग शाम के वक्त किसी पब में जाने की तैयारी में थे और हम लोग जब पब मैं बैठे हुए थे तो हम लोग आपस में बात कर रहे थे हम लोगों ने ड्रिंक का ऑर्डर दे दिया था तो वेटर हमारे लिए ड्रिंक लेकर आया। काफी समय बाद अपने दोस्तों के साथ पार्टी करने का मजा कुछ और ही था और उन लोगों के साथ मैं बात कर ही रहा था कि तभी मुझे वह लड़की दिखाई दी जो मुझे गोवा में दिखाई दी। मैं उसे देख कर खुश हो गया और वह मेरे सामने वाली टेबल पर ही बैठी हुई थी मैं बार-बार उसकी तरफ देख रहा था आखिरकार उसने भी मेरी तरफ देखा और वह मेरे पास आकर बैठी और मुझसे वह बात करने लगी। मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि मेरी उससे बात हो जाएगी अब मुझे उसका नाम पता चल चुका था उसका नाम सुहानी है और सुहानी से उस दिन मिलकर मुझे अच्छा लगा। सुहानी से मेरी पहली ही मुलाकात हुई थी और मैंने उसका नंबर ले लिया था उसके बाद भी हम लोग एक दूसरे से मिलते रहे करीब 6 महीने तक हम दोनों एक दूसरे से मिलते रहे लेकिन अभी तक हमारी बात कुछ आगे बढ़ी नहीं थी परंतु एक दिन मैंने सुहानी को कहा कि हम लोग कहीं लॉन्ग ड्राइव पर चलते हैं। हम दोनों लॉन्ग ड्राइव पर निकल पड़े सुहानी बड़ी ही बोल्ड और बिंदास है सुहानी मेरे साथ बैठी हुई थी, मैं कार ड्राइव कर रहा था उसी दौरान मैंने जब अपने हाथ को सुहानी की जांघ पर रखा तो वह मुझे कहने लगी कि लगता है तुम्हें सेक्स की जरूरत है। मैंने उसे कहा तुम्हें कैसे पता? उसने मेरे होंठों को चूम लिया और मेरे होंठों को जब वह चूम रही थी तो मुझे मजा आ रहा था हम दोनों के बीच गरमागरम तरीके से चुंबन हो रहा था। मैंने भी गाड़ी को एक किनारे पर रोका वहां पर कोई भी नहीं था और मैंने गाड़ी के पीछे वाली सीट पर सुहानी को बैठने के लिए कहा वह पीछे वाली सीट पर बैठ चुकी थी।

हम दोनों एक दूसरे के साथ किस कर रहे थे मुझे बहुत ही मजा आ रहा था जिस प्रकार से सुहानी के साथ मै उसके होठों को चूम रहा था वह भी बड़ी खुश नजर आ रही थी मैंने अपने लंड को बाहर निकाला, उसने मेरे लंड को अपने मुंह में समा लिया और मेरे लंड को वह बड़े अच्छे तरीके से मुंह के अंदर ले रही थी और मुझे बहुत ही मजा आ रहा था काफी देर तक वह मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसती रही उसने मेरे अंदर की गर्मी को बढ़ा दिया था। मैंने उसके कपड़े उतारकर उसकी पैंटी के अंदर अपनी उंगली को डाला तो मेरी उंगली उसकी चूत के अंदर नहीं जा रही थी लेकिन मैंने जब अपने लंड को उसकी चूत के अंदर घुसाया तो मेरा लंड उसकी चूत के अंदर तक चला गया और वह कहने लगी कि तुम्हारा लंड बड़ा ही मोटा है। उसने मुझे कस कर अपनी बाहों में जकड़ लिया अब मैं उसे तेजी से चोद रहा था उसे चोदने में मुझे बड़ा मजा आ रहा था वह पूरी तरीके से उत्तेजित हो गई थी। जिस प्रकार से उसकी चूत के अंदर बाहर मै अपने लंड को कर रहा था उससे मेरे अंदर की गर्मी बढ़ती जा रही थी और सुहानी भी अपने आपको रोक नहीं पा रही थी उसने मुझे कहा कि मेरा बदन पूरी तरीके से गर्म हो चुका है।

मैंने उसे कहा मैं अपने आपको रोक नहीं पा रहा हूं लेकिन जैसे ही मैंने अपने वीर्य को उसके स्तनों पर गिराया तो वह खुश हो गई और कहने लगी मुझे आज तुम्हारे साथ सेक्स करने मे मजा आ गया। मैंने उसे कहा मुझे तुम्हारे साथ सेक्स करने में बड़ा मजा आया लेकिन दोबारा वह मेरे लंड को चूसने लगी उसका बदन मुझे अपनी और खींच रहा था। मैंने सुहानी को गाड़ी के सहारे खड़ा किया बाहर कोई भी नजर नहीं आ रहा था मैंने अपने लंड को उसकी चूत के अंदर तक डाल दिया जब मैं अपने लंड को उसकी चूत के अंदर बाहर कर रहा था तो मुझे बहुत मजा आता वह भी अपनी चूतड़ों को पीछे की तरफ कर रही थी। जिस प्रकार से मैंने उसकी चूत के मजे लिए उससे वह बड़ी खुश हो गई और मुझे कहने लगी कि लगता है मैं अब झड़ने वाली हूं मैं ज्यादा देर तक तुम्हारा साथ नहीं दे पाऊंगी। थोड़ी देर बाद ही सुहानी झड़ चुकी थी और मेरा लंड उसकी चूत के अंदर बाहर तक हो रहा था लेकिन मैंने भी सुहानी से कहा कि मेरा वीर्य गिरने वाला है और जैसे ही सुहानी की चूत के अंदर मैंने अपने वीर्य को गिराया तो मुझे मजा आ गया सुहानी भी बड़ी खुश हो गई। हम दोनों वापस लौट आए और उसके बाद सुहानी के साथ मैंने दो तीन बार और सेक्स किया लेकिन अब वह किसी लड़के के साथ प्यार में है।


error:

Online porn video at mobile phone


drsi kahaniचाची के चोदा काहानी फोटोaunties chudai storyantarvasna chudai hindi mehindi chudai kahani hindimarathi sexy storeवो भी चुद गईgand mari didi kireal chutjabardasti bhabhi ko chodabhabhi ko nahate dekh chodasuhagrat ki kahani hindisavita bhabhi ki hindi kahanixxx sex stories freeChoti bahan thuki thand me wife sex story hindichudai bhabhi ke sathrand ki chudai storynew sexy story marathihindi porn saxbhabhi chudai ki kahanigirlfriend ko choda hindi storymeri pehli chudai ki kahanisheela ki chuthind sixantervasna comhinde sax filmschool me chudai hindichudai in hindi storychut kathahindi sex story hindi maipani me chudaidoctor hindi sexdevar bhabhi ki chudai storyantarvasna full hindi storysexy jankarichodne ki kahani in hindi videohindi story chudaibhabhi ki gand mari kahanihindi choot chudaibhabhi ki chudai story in hindiantarvasna story chudaihinde sax satorebua ki chudai sex storyaunty ki chudai sex story hindiकामना भाभी के साथ चुदाई की कहानीaunty ki group chudailift me chudaichudai ladki kikamsin sali ki chudaihindi sexy story hindi sexy storywww lndean sexmeri maa ki chudai storysuhagrat sex photosexy story kahanikuwari girl ki chudaisex ki aag comhot sexy ladkihindi sexy story in trainरंडी घर की मौसी की चुदाईdesi school chudaihinglish sex storiesbhabhi devar sex video hinditop chudai kahanisadhu sex comxxx real storybahan ki chudai ki kahani hindi mebhabhi ki chut storyaunty gandsex with kamwali baichachi ko jabardasti choda storydadaji ki kahaniyabhai and sister sexbihar hindi sexindian brother pornsexi batemall me chudai