मेरी गांड में दो लंड


gay sex stories कैसे हो मेरे गांडू दोस्तों ? मैं वसीम हाजिर हूँ अपनी एक सच्ची कहानी लेकर | मेरा रंग गोरा है और मेरी बॉडी थोड़ी स्लिम है | मेरी दाढ़ी अभी नही आई है इसीलिए कई बार लोग मुझे ओये चिकने कहकर चिढाते हैं | चलिए अब कहानी पर आता हूँ |

मैं वो दिन कभी भूल नही सकता | वो दिन था मेरा कॉलेज का पहला दिन | मैं शरीफ सा लड़का कॉलेज में होने वाली रैगिंग से बेखबर था | मैं अपने हॉस्टल में गया और सारी फॉर्मेलिटी पूरी करने के बाद अपने कमरे में जाकर लेट गया | मैं थक गया था इसीलिए दोपहर में सो गया | मुझे गहरी नींद आती है इसीलिए सोने के बाद आस पास क्या हो रहा है मुझे कुछ पता नही चलता | जब अचानक से मेरी आँख खुली तो देखा की मेरे मुंह में एक लंड है और वो लंड एक लडके का है जो पास में खड़ा है | मैं सहम गया और डर के पीछे हट गया | मैंने देखा की मेरे कमरे में लगभग आठ लड़के खड़े थे | फिर वो सब मुझे उठा कर दुसरे रूम में ले गये जहां और भी लड़के मौजूद थे | मुझे बताया गया की वो बस मेरे सीनियर थे और मेरी रैगिंग लेने जा रहे हैं | मुझे पता भी नही की मेरे साथ क्या होने वाला था | अब उन लडको में से एक ने मेरे कपड़े उतारना शुरू कर दिया | मैंने मना करने को कोशिश की लेकिन वहां मजूद इतने लडके देखकर मैं डर गया | अब मैं उन लडको के सामने नंगा खड़ा था | पीछे से एक लड़का जिस का नाम नितिन था, आया और मेरे चूतडों पर हाथ मरते हुए बोला अरे वाह, इसकी गांड तो मस्त है | मारने में मजा आएगा | मैं और डर गया | एक और लड़का जिसका नाम मोनू था, वो मेरे लंड को जो उस वक़्त लुल्ली थी को पकड़ कर सहलाने लगा और मेरा मजाक उड़ाते हुए कहने लगा की लडके की लुल्ली तो बहुत छोटी है यार, इससे कुछ हो भी पाएगा फ्यूचर में या नही | मैं चाहते हुए भी कुछ नही कर सकता था इसीलिए चुपचाप खड़ा रहा और सब सहता रहा |

अब एक तगड़ा लड़का जिसका नाम समीर था, आया और मुझे झुका दिया | अब उसने अपना बड़ा सा लंड मेरे मुंह में घुसेड दिया और मेरे सर को पकड़ कर अन्दर बाहर करने लगा | उसका लंड ७ इंच का रहा होगा | उसके लंड से बदबू आ रही थी लेकिन बहुत ही दमदार लंड था उसका | मेरे पास कोई चारा न होने की वजह से मुझे उसका लंड चुसना पड़ रहा था | मेरे मुंह से गप्प प पप प प्प्प्पप गग्ग पप पपप प प्प्प्पप पपप प पपप गग्ग ग प पप प पप की आवाज आ रही थी | अब नितिन ने मुझे घोड़ी बनाया और मेरी गांड में अपनी एक ऊँगली घुसेड दी | मुझे बहुत दर्द हुआ और मई उई ईईइ इ ईई ईईइ ईईइ ईईई ईई ईई ई आःह ह हह ह हह करके कराहने लगा | इधर मैं समीर का लंड चुसे जा रहा था | अब नितिन ने बिना तेल लगा अपना लंड मेरी गांड पर टिकाया और एक ही झटके में पूरा घुसेड दिया | हालाँकि उसका लंड सम्मर जितना बड़ा नही था लेकिन फिर भी मेरी गांड फट गयी | मैं उसका लंड झेल नही पाया और मेरे आंसू निकल पड़े | अब उसने मेरी कमर पकड़ी और मेरी गांड मारनी शुर कर दी | वो इधर शॉट लगा रहा था और इधर मेरे मुंह से आआअह्ह्ह हह ह्ह्ह ह ह हह ह ऊऊ ऊ ऊ ऊऊ उ ऊ उ उ ऊ उ ऊऊउ ऊऊ उ ओह्ह ह ह हह ह्ह्ह्ह ह ह हह हह ह ह्ह्ह्ह हह ह ह हह हह हह ह ह ह्ह्ह्हह ह्ह्ह्ह ह हह ऊ ऊऊउ ऊ उ ई ईई ई इ इ ईईइ ईई ईईई इ ईईइ इ ईई ई ऊऊ ऊ उ ऊ ऊऊउ उईइ की आवाज निकल रही थी | पहले तो नितिन धीरे धीरे चुदाई कर रहा था लेकिन बाद में उसने स्पीड बढ़ा दी | अब मेरी हालत खराब हो गयी और मैं और जोर से चीखने लगा | करीब 10 मिनट की जोरदार चुदाई के बाद नितिन मेरी गांड में ही झड गया और उसका सारा माल मेरी गांड में फ़ैल गया | बड़ी मुश्किल से मैंने समीर को मेरे लंड से मुंह निकालने को कहा और फिर उनमे से एक ने मुझे तौलिया दी | मैंने तौलिये से अपनी गांड में लगा माल साफ किआ | अब समीर ने फिर से मेरे मुंह में अपना लंड डाल दिआ और मेरे मुंह को चोदते हुए मेरे मुंह में ही झड गया |

अब मुझे थोड़ी मोहलत मिली | मुझे लगा की शायद ये लोग अब मुझे छोड़ देनेगे और मेरे कमरे में वापस जाने देंगे लेकिन अभी कहाँ | अब एक तीसरा लड़का आया जिसका नाम गोलू था | असली नाम मुझे नही पता लेकिन सब उसे गोलू कहकर ही बुलाते थे | गोलू ने मुझे बेड पर लेटने को कहा | मजबूरी में मैं लेट गया | उसने मेरे साथ कुछ और नही किआ, सीधा मेरी लुल्लू पकड़ ली और हिलाने लगा | वो बहुत ही हरामी किस्म का इन्सान था और वो लंड चुस्वाने के साथ साथ कभी कभी लंड चूस भी सकता था | उसमे मेरी लुल्ली को सहलाना शुरू कर दिया | मेरी लुल्लू में अब थोडा जोश आने लगा और वो खड़ी होने लगी | मेरी लुल्ली में जोश आता देख गोलू ने सीधा मेरी लुल्ली को अपने मुंह में ले लिया और बड़े आराम से चूसने लगा | मेरी लुल्लू उस टाइम 4 इंच की हो चुकी थी खड़ी होने के बाद | गोलू बड़े मजे से मेरा लंड चूस रहा था और गप्प प पप्पप प पप ग्ग्ग्गप्प पप प पप प प की आवाज कर रहा था | अब मेरी लुल्ली पूरी तरह खड़ी हो चुकी थी | अब समीर ने बोला की किसी को इसकी लुल्ली से ओनी गांड चुद्वानी है क्या | नितिन ने तुरंत हाँ कर दी और बोला की इसकी गांड से खून निकाल दिया, अब इतना तो बनता है इसके लिए | फिर मेरे ऊपर आ गया और मेरी लुल्ली को अपनी गांड में डालने लगा | जब ऐसे नही गया तो उसने थोड़ी क्रीम अपनी गांड में लगाई और फिर से मेरी लुल्ली पर बैठ क्र उसे अपनी गांड में घुसा लिया | इस बार क्रीम लगी थी इसलिए थोड़ी मेहनत के बाद मेरी लुल्ली उसकी गांड में घुस गयी | दर्द से वो भी बिलबिला उठा और उसकी मुंह से आ आआआ आःह्ह्ह हह ओह्ह्ह ऊऊ ऊऊ ऊऊउ इ ईईइ ईई इ ई इ इ ई ईई ईई ईई ईई ई ई उ उ ऊऊऊ उ ऊऊउ ऊ ऊऊउ उ उईइ ई ईईइ ईई ईई ईईइ निकल पड़ा | अब वो मेरी लुल्ली पर कूदने लगा | मेरी लुल्ली से नितिन की गांड की चुदाई का मुझे भरपूर मजा आ रहा था | अब मैंने भी थोडा जान कर जोरदार चुदाई शुरू कर दी | नितिन की गांड लगभग फट चुकी थी और ये मुझे साफ़ नजर आ रहा था | नितिन की गांड मरते हुए मैं उसकी गांड ही झड गया |

अब समीर ने खुद लेकर मुझे उसके ऊपर आने को कहा | मैंने वैसे ही किआ | अब समीर मुझे उसके लंड पर बैठने को कहने लगा | मुझे पता था की समीर का लंड बड़ा और इसीलिए मैं और डर रहा था | इतने लडके देखकर मैं डर गया | अब मज़बूरी में मुझे समीर से अपनी गांड मरवानी थी | मैंने अपनी गांड में क्रीम लगे और उसके लंड पर भी और उसके लंड को अपनी गांड में घुसाने की कोशिश करने लगा | बड़ी मुश्किल के बाद उसका लंड मेरी गांड में घुसा | जैसे ही उसने चोदना शुरू किआ, मेरी हालत खराब हो गयी | मैं लगातार आह्ह हह हह ह्ह्ह्ह हह ह ह ह्ह्ह्हह्ह ऊऊ ऊ उई ईई इ ईई ईई इ इ ओ हह हह हह ह्ह्ह्हह ह्ह्ह्ह ह ह्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह ह ह्ह्ह्हह ऊऊ उ ऊऊ ऊऊउ ऊऊऊउ उह्ह्ह ह ह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह ह हह ह ह्ह्ह्ह ईई इ ईई ई ई ई इ ईई इ इ ईई ईई इ ई ई इ इ ईई इ इ क्क्ह्हह ह ह्ह्ह हह ह हह ह्ह्ह्ह ओह्ह्ह हह ह्ह्ह ह ह्ह्ह ह हह ह्ह्ह हू ऊ ऊऊ ऊऊ ऊ ऊई ईईई ईईई ई ईइओ ऊऊऊऊ ओह्ह हह हह ह्ह्ह्ह हह ह ह्ह्ह्हह ह ह्ह्ह्हह्ह ह हह हह ऊऊ उ ऊ इ ईई ईई इ ई ईई ई ईई ईई ई इ इ इ ई ई इ इ ई इ इ ईई इ ईईई इ ई ईईइ ईई ईईइ ईई इ ई आःह्ह ह ह्ह्ह ह्ह्ह ह ह्ह्ह ह हह किये जा रहा था | अब अचानक से पीछे से गोलू आ गया और वो मेरे भी उपर आ के मेरी गांड में लंड घुसेड़ने लगा | एक तो समीर का बड़ा लंड मेरी गांड में था और ऊपर से इसका लंड.. मेरी गांड बुरी तरह फट गयी | मैं रो पड़ा और इस बार जोर जोर से | न जाने क्या सोच कर उन लॉग इन को मुझ पर तरस आ गया और उन्होंने मुझे छोड़ने की सोची | अब दोनों ने मेरी गांड से लंड निकाल लिया | फिर मैंने अपने कपड़े पहने और अपने रूम पर आ गया |



Online porn video at mobile phone


bhabi sex story hindiindian chudai kahanisex story real hindimami chudai kahanilund chut milanhindi sex story behan ki chudaiantarvasbasuhag rat sex vidiodehati sexindian aunty chudai kahaniआ उई आ चोदाई कहानिmast chudai storydesi lesbian sexchut mari storyhotel in hindikareena kapoor ki chudai ki kahaniristo me chudaibhabhi chudai ki storychudai ki kahani gfindian chudai kahani hindisex ki kahani hindi maigirlfriend ki chudai story in hindiantarvasna hindi sex story downloadmalish walijabardast chudai hindinaina ki chudaibhai bhabhihindi pdf sex kahanifamily m chudaichachi ki chudai story hindisexi bhabhi sexbhai behan sex kahanidesi maal sexybhai bahan chudai photodesi girl ki chudai kahanifirst sex story in hindicg desi sexpolice station me chudaibahan bhairaat me chodalatest hard fuckhindi new chudai ki kahaniChodyi me dam nahi hindiindian devar and bhabhigirls ki chudai storiesaunty ki chut ki kahanichoot chudai kahanifree chudai ki storybhavna ki chudaipunjabi fuck storieshindi sax kahniwedding night story in hindidevar bhabhi ki chudai ki kahani hindiaapa ki gand marihot chudai khaniyachudai kahani picladki ki sexyenglish teacher ko chodamaa ki chodai combhani ki chudaichudai inhindi suhagrat kahanichudai ki khahniyavery hard fuckbhabi chodafuking story hindihindsex storybhabhi ko chudte dekhachudai sex kahanibete ne gand marabhai bahan ki chudai ki kahanisaxy khaniyabalatkar jabardastilatest hindi chudaikallo ki chudaisex kahani hindi maisexy story written in hindihot sister and brother sexlesbiyanhindi me chut ki kahaniraat bhar chudai kischool me madam ko chodaaunty ko choda sex storylocal bhabhi photosex book story hindichachi ki jabardasti chudainangi choot ki chudai