पत्नी की मर्ज़ी से साली को किया गर्भवती


हैल्लो दोस्तों सभी लंडपुर के वसियों एवं चूतपुर की रंडियों को मेरे बुझे लंड की सलामी वो इसलिए क्युकी अगर वो खड़ा हुआ तो आपकी गांड या बुर चोद के ही मानेगा  | इस बात की अति सम्भावना हैं की आप मेरी आप बीती सुन कर अपनी चड्डी को धोने जाएँगे क्यूंकि आपका माल आपकी चड्डी में छुट जायेगा

मेरा नाम है अनुज और मैं रायगढ़ में रहता हूँ | मैं 5 फीट 10 इंच लम्बा हूँ और रंग थोडा सांवला है | मेरी शादी को दो साल हो चुके है लेकिन मेरा एक भी बच्चा नहीं है | मैं बहुत ही परेशां रहता था और मेने हर जगह अपना चेकअप कराया सभी जगह मेरी रिपोर्ट सही आई फिर मेने अपनी बीवी का चेक अप कराया कुछ कोम्प्लिकेशन थे मैं अपने मैं संतुष्ट था की मुझमे कोई कमी नहीं थी मगर बच्चा नहीं होने का गम मुझे सताता था एक दिन मेरी बड़ी साली का घर आना हुआ गजब का झम्म माल था बड़े बड़े चुचे गोल गोल गांड बस चेहरा थोडा सांवला था पर फिर मेने सोचा कोन सा कोई लंड का कलर देखता है मैं अपनी शादी क समय से ही उसको चोदने की तमन्ना रखता था मगर यह समाज आड़े आता था मगर जब माल कूद के खुद चुदवाने आये तो कोई चुतीया ही होगा जो यह काम ना करे | क्यूंकि मेरी बीवी ने खुद ही उसको यह काम के लिए अप्रोच किया था कि वह मेरे घर मैं रहे और साल भर बाद मेरे लिए मेरे पति से मुझे एक बच्चा पैदा करके दे |

उसके बाद मुझे लगा कि मेरा कुछ नहीं हो सकता क्यूंकि बहुत ही परेशान रहता था मैं | मुझे इस बात का बिलकुल भी पता नहीं था कि मेरी बीवी में ये कमी निकल जाएगी | वो बहुत ही खूबसूरत है उसे धोखा देने का मन तो नहीं करता पर मुझे एक बात सताती है कि अगर मेरे बच्चे नहीं हुए तो मेरी जायदाद का क्या होगा | क्यूंकि मैं अच्छी नौकरी करता हूँ और पैसे भी अच्छे मिलते है पर क्या फायदा क्यूंकि दो लोग कितना खर्च करेंगे | मुझे तो बिलकुल भी नहीं पता था कि ये हो जाएगा पर मेरी बीवी का उदास चेहरा देखकर मेरा मन मचल जाता था | मुझे तो ऐसा लगता था कि मैं सारी दुनिया में आग लगा दूँ और उसके लिए हर ख़ुशी ढूंढ के ले आऊँ | मैं बुर चोद इंसान और कर भी क्या सकता था क्यूंकि मुझे चूत तो मिल चुकी थी पर चूत का प्रशाद अभी तक नहीं मिला था | मुझे भी कभी लगता था कि मैं कही कोई गलती न कर जाऊं पर जब मेरी बीवी मुझे गले से लगाती थी मैं सब कुछ भूल जाता था | उसके बाद मैं उसको खूब प्यार कर्त्ता था और उसे भी ये न लगे कि मैं दुखी हूँ इसलिए चुदाई भी करता था | उसकी चूत में ना जाने क्या कसक थी जो मैं अपने आप उसकी तरफ अपने आप खिंचा चला जाता था |

फिर मुझे याद आया कि मुझे तो कुछ ऐसा करना है जिससे मेरी बीवी माँ बन जाए | मैंने बड़े से बड़े डॉक्टर का दरवाज़ा खटखटाया और उसका इलाज करवाया पर अफ़सोस ऐसा कुछ नहीं हुआ जैसा मैं चाहता था | फिर एक दिन मुझे ख़त आया कि मेरी बीवी कि बड़ी बहन यानी कि मेरी साली आ रही है हमारे घर कुछ दिन रहने के लिए | उसकी बड़ी बहन भी मस्त माल थी और पहले मैं उससे ही शादी करने वाला था पर जैसे ही अपनी बीवी को देखा तो मैं उसपे फिसल गया था | उसके बाद जब मैंने ये खबर सुनी तो मेरा मन थोडा सा प्रसन्न हुआ | मुझे तो बहुत बढ़िया लग रहा था क्यूंकि मुझे कुछ भी करके मेरा बच्चा चाहिए था | ऐसे में मुझे एक बात याद आई और इसका मतलब यह था कि मेरे दिमाग में कुछ उल्टा पुल्टा ही चल रहा था | जैसे ही उसकी बहन अगले दिन आई हम दोनों उसे देखकर खुश हो गए और मैं तो कुछ ज्यादा ही खुश हो गया था |

मेरी बीवी को भी ख़ुशी मिल रही थी उसके आने पर और वो भी मिल जुल के सब कुछ कर रही थी | उसकी बहन शादी के बाद और निखर गयी थी और मुझे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था | क्यूंकि मुझे तो बच्चे की चुल चढ़ी हुयी थी | मेरे पास एक दिन का समय था सब कुछ सेट करने के लिए क्यूंकि उस दिन मेरी बीवी कुछ काम से बाहर जा रही थी | उसके बाद मैंने खुद से कहा बस कुछ देर का समय और फिर मैं अपना टांका सेट कर दूंगा उसकी बहन के साथ | उस दिन मुझे बस एक घंटे का टाइम लगना था | मेरी बीवी अपने काम से चली गयी और उसकी बहन नीचे बैठ कर कुछ काम निपटा रही थी | मैं उसके पास गया और उससे बात करना चालु कर दिया | फिर मैंने उससे कहा कि कैसा चल रहा है आपका और कैसे है आपके बच्चे | तो उसने कहा सब ठीक है जीजू आप सुनाइए कैसे है आप आप के पास तो समय ही नहीं रहता | मैंने कहा मुझे बच्चा नहीं हो पाएगा क्यूंकि मेरी बीवी कभी माँ नहीं बन सकती और रोने लगा | उसने मेरे कंधे पे हाथ रखा और कहा कि मुझे बहुत दुःख है इस चीज़ का और मैं क्या कर सकती हूँ आपके लिए | मैंने उसका हाथ पकड़ा और कहा सुनो बड़े से बड़े डॉक्टर ने कह दिया है कि ये कभी माँ नहीं बन सकती | उसके बाद मैंने उसका हाथ पकड़ा और कहा सुनो मुझे एक बच्चा देदो मेरी बीवी की सूनी गोद भरदो | उसने कहा जीजू मैं केसे करूँ ये क्यूंकि मैं तो पहले ही किसी कि बीवी हूँ | तब मैंने कहा अपनी बहन के लिए करदो मैं हाथ जोड़ता हूँ | उसने कहा जीजू मुझे सोचने का थोडा सा समय दीजिये |

फिर अगले दिन मेरी बीवी उदास बैठी थी और मैं उसके लिए चाय बना के लेके गया | हम दोनों उदास होकर बैठ के चाय पी रहे थे और मैं अपनी बीवी को गले लगाकर कह रहा था कि चिंता मत करो सब ठीक हो जाएगा | मेरी साली ये सब देख रही थी और सुन भी रही थी | पता नहीं उसने क्या सोचा और मुझे कहा जीजू एक काम है जरा यहाँ आइये | मैंने कहा हाँ आता हूँ | मेरी बीवी ने कहा यही बात करले न तो उसने कहा नहीं यार नीचे फाइल में कुछ दिक्कत है | तब वो मान गयी और मैं नीचे चला गया | फिर उसने कहा जीजू मैं मुझे जो कल आपने कहा था मैं उसके लिए तैयार हूँ और आप मुझ से बच्चा कर सकते हो | मैंने उसे गले लगा लिया और कहा तुम नहीं जानती कि तुमने मुझेपे कितना बड़ा एहसान किया है | उसने मुझे किस किया और कहा जीजू मुझसे आप दोनों की उदासी नहीं देखी जाती |

उसने कहा जीजू आप रात में मेरी कमरे में आ जाना और इतना ध्यान रखना कि छोटी गहरी नींद में हो क्यूंकि मैं सेक्स के टाइम पर बहुत चिल्लाती हूँ | मैंने कहा ठीक है और वो हस्ते हुए चली गयी | फिर मैंने खाना खाया रात में और अपनी बीवी को कमरे में लेकर गया और उसे बड़े प्यार से सुला दिया | रात के १२ बज रहे थे और मैं भी देख रहा था कि मेरी बीवी सोयी या नहीं | फिर जब मुझे लगा वो गहरी नींद में है तो मैं अपनी साली के कमरे में गया और उसने मुझे तुरंत अपनी बांहों में भर लिया | उसने कहा जीजू साली आधी घरवाली को आज साबित कर दिया आपने | मैंने उसके किस किया और कहा तुम भी अपनी बहन के जैसे ही नेकदिल इंसान हो |

फिर मैंने उसके कपडे उतारे और वो सिर्फ ब्रा पंतय में थी इसका फिगर मेरी बीवी से ज्यादा गजब का था और दूध बड़े गजब के थे | मैंने उससे कहा वाह यार तुम तो बड़ी मस्त हो तो उसने कहा तो फिर कार्लो मस्ती मेरे साथ | मैंने उसका ब्रा खोला और उसने दूध पीने लगा | क्या टेस्टी निपले थे उसके जब मैं उसके निप्पल चूस रहा था और वो उम्मम्मम्म आआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊईईईईइमा ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ उम्मम्मम्म आआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊईईईईइमा ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ कर रही थी | उसके बाद मैंने उसकी चूत चाटना शुरू किया और यहाँ पर मेरी बीवी बाज़ी मार गयी थी क्यूंकि मेरी बीवी कि चूत से बदबू नहीं आती | पर इसकी चूत भी कमाल थी |

वो एक बार झड़ी तो मैंने अपना लंड उसकी चूत पे रखा और जोर जोर से अन्दर करने लगा | उम्मम्मम्म आआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊईईईईइमा ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ उम्मम्मम्म आआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊईईईईइमा ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ जीजा क्या लंड है आपका | मैंने उसकी चूत में तीन बार अपना माल छोड़ा | फिर सुबह के चार बज गए थे पर मेरी चुदाई ख़तम नहीं हुयी थी पर मैं रुक गया | ऐसे मैंने उसे पूरे १५ दिन तक चोदा और उसे अपने बच्चे कि माँ बना दिया | और बाद में हमने ये बात मेरी बीवी को भी बता दिया और उसने कहा आप ने अच्छा काम किया |  तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | अपनी राय देना मत भूलियेगा |



Online porn video at mobile phone


anu ki chudaishilpa ko chodahot hot sexiantarvasna chudai comwww hindi sexstory comankita ki chudaidever bhabhi ki chodaiwww desi chudai ki kahani combhabhi ki chudai sexiajmer ki story kahani xxxbhai behan ki chodaibhabhi ki chudai ki hindi storiesmuth marne se kya hota haikahani chut chudaibabita chutsexy chut sexswx storiesmusalman ne chodagirlfriend ki marimarati sexi storiboy and girl sex story in hindirape sex kahanibhabi devar sexy videomarathi sax storelund chut ki chudaichachi chudai story hindigirl sex hindimaa chudai comstory sex xnxxhot bhabhi ki jawanikachi chudaichut pyasiwife swapping stories in hindixxx sister comhindi bf saxyindian chut sexhindi kahani bahan ki chudaiindian bhabhi ka sexnaukrani chutsexi desi garlchote bhai ki chudaigand mari ladki kibaap beti ki chudai ki hindi storydesi group sex storieshinde saxysexi garlssonam ko chodawife sex story in hindix kahanidesi aunty ki chudai storychodai khani hindisister ki chudai ki kahani in hindibhai ka lundhindu sexy kahanisarkari chootkahani bhabhi ki chudaigand kahanidesi hot bhabhi ki chudaiwww bhabhi ki chudai inhindi aex storyhindi sexy stroyhindi chudai ki kahaniya in hindi fontdevar bhabhi ki chudai ki kahanihard srxantarvasna hindi sexy stories commummy ki kahanifree hindi sex sitessexy khani hindimummy ki chudai dekhibhabhi ki chudai long story